बिना किसी को जाने या किसी भी बात की तह तक जाने बिना टिप्पणी करना गलत है

जब तक आप किसी बात की जड़ तक न पहुँच जाएँ तब तक उसके बारे में कोई टिप्पणी न करें। 

एक बार एक 26 साल का लड़का और उसका पिता ट्रेन में सफ़र कर रहे थे। वह लड़का बार-बार ट्रेन की खिड़की से बाहर झांक रहा था और बाहर देखते हुए पेड़ पौधों की तरफ देखकर जोर-जोर से चिल्ला रहा था और हंस रहा था।

पास ही में एक शादीशुदा जोड़ा बैठा था वह यह सब देखकर हंस रहे थे। तभी उस 26 साल के लड़के के पिता ने अपने बेटे से कहा! देखो बेटा… बाहर आसमान में बादलों को देखो वह भी हमारे साथ दौड़ लगा रहे हैं।

यह देखकर उस शादीशुदा जोड़े को सहन नहीं हुआ और वह उस लड़के के पिता से बोले आप अपने बेटे को किसी डॉक्टर को क्यों नहीं दिखाते? यह सुनकर उस लड़के के पिता ने उत्तर दिया! हां, हम डॉक्टर के पास से ही आ रहे हैं।

दरअसल मेरा बेटा जन्म से ही देख नहीं सकता था पर आज उसके आंखों का ऑपरेशन हुआ है जिस कारण वह देख पा रहा है और आज वह बहुत खुश है। इसलिए किसी को जाने बिना या किसी भी बात की तह तक जाने से पहले कोई टिप्पणी करना गलत बात है।