हार मानने के साथ आत्मविश्वास भी टूट जाता है इसलिए निरंतर प्रयास करते रहें।

यदि कोई व्यक्ति आपके कार्य में सफल नहीं होता है, तो उसे दूसरा मौका दें, अन्यथा उसका विश्वास टूट जाएगा - थॉमस एल्वा एडिसन

जब थॉमस एल्वा एडिसन ने बिजली के बल्ब का आविष्कार किया, तो उनके साथियों की को भी बहुत खुशी हुई। बल्ब के आविष्कार से पहले, इसका उपयोग लगभग एक हजार बार किया गया था, तब जा कर सफलता हासिल की गई थी। जब बल्ब तैयार हो गया, तो एडीसन ने कार्यालय के सभी लड़कों अपने को केबिन में बुलाया और उन्हें बल्ब का परीक्षण करने को कहा।

कार्यालय के लड़के अपने हाथों में बल्ब पकड़े हुए काफी नर्वस महसूस कर रहे थे। लेकिन, एडिसन ने कहा, उन्हें बल्ब पकड़ने के लिए थोड़ा जोर दिया तो उनमे से एक लड़के ने उस बल्ब को डरते हुए पकड़ा। परन्तु उस  बल्ब को पकड़ते हुए वह इतना घबरा गया था कि घबराहट में अचानक उसके हाथ से बल्ब गिर गया। कार्यालय के उस लड़के को डर के साथ महसूस हुआ कि उसने इतना महत्वपूर्ण आविष्कार गिरा दिया।

वह सोचने लगा कि अब उसकी नौकरी चली जाएगी। दो दिन बाद, एडिसन ने कार्यालय के उसी लड़के को अपने केबिन में वापस बुलाया। एडिसन के सभी साथी भी वहां मौजूद थे। एडिसन ने दूसरा बल्ब बनाया और कार्यालय के उसी लड़के को इस बार इसका परीक्षण करने को कहा। एडिसन के सभी साथियों ने इस बार बड़े हैरान होकर पूछा, आपने इसे फिर से क्यों बुलाया है? यह बल्ब फिर से इसके हाथों से गिर सकता है।

आपकी सारी मेहनत फिर से बर्बाद हो सकती है। तब एडिसन ने कहा - अगर उसने बल्ब को फिर से गिरा दिया, तो शायद ही मुझे बल्ब के पुनर्निर्माण में एक दिन लगेगा। लेकिन, अगर इसे फिर से काम नहीं दिया गया, तो यह अपने आत्मविश्वास को खो देगा, जिसे वापस पाना बहुत मुश्किल होगा। इसलिए, मैं नहीं चाहता हूँ कि यहाँ अपने आत्मविश्वास को बनाए रखे।