धैर्य के साथ हम किसी भी मुश्किल को आसान बना सकते हैं। हर समस्या का कोई न कोई समाधान आवश्य होता है।

भगवान ने हमें जो भी समस्या दी है, हम  पास उसका उपाय है- थॉमस एडिसन

एक बार की बात है जब थॉमस एडिसन फोनोग्राम बना रहे थे। तब मशीन से कुछ अजीब सी आवाज आने लगी। उन्होंने इसे ठीक करने का काम अपने एक सहायक को दे दिया। वह सहायक लगभग दो साल तक इस मशीन को ठीक करने में लगा रहा।

दो साल के बाद, वह असिस्टेंट वापिस एडिसन के पास आया और कहा, 'मुझे समझ नहीं आ रहा है कि इस मशीन में क्या समस्या है। मैंने अपने जीवन के हजारों डॉलर और दो साल इस काम में बिता दिए। परन्तु मै इसे अब तक ठीक नहीं कर पाया हूँ।

मैं बहुत निराश हूं और मैं इस पर काम नहीं करना चाहता हूं और इस्तीफा देना चाहता हूं। ’यह कहते हुए, उसने एडिसन को अपना इस्तीफा सौंप दिया। एडिसन ने सहायक को प्यार से देखा, उसके इस्तीफे को फाड़ दिया और कहा, मेरा मानना ​​है कि हमारे पास भगवान द्वारा बनाई गई हर समस्या का समाधान है।

हां, हम किसी भी समस्या के समाधान समय जरूर लगाते हैं परन्तु इस संसार में हर समस्या का कोई न कोई समाधान जरूर होता है।