किसी भी काम को करें, तो दिल लगा कर करें

अगर आप कड़ी मेहनत करेंगे, तो आपको सफलता मिलेगी

य़ह बहुत पहले की बात है। एक बार गुरु गोविंद के कुछ शिष्य उनके पास आए और कहने लगे कि गुरुजी, आप हमसे प्रतिदिन जप करने के लिए कहते हैं और हम भी यही करते हैं। लेकिन फिर भी, हमें कोई लाभ नहीं मिलता है। आखिर इसकी वजह क्या है?

शिष्यों के इस सवाल को सुनकर गोविंद साहब सिर्फ मुस्कुराए और कुछ नहीं बोले। इसके बाद, जैसे ही कुछ समय बीत गया, उसने शराब से भरे एक घड़े को बुलाया। इसके बाद, उन्होंने अपने शिष्यों से कहा कि वे इसे कुल्ला करें और पिचों को खाली करें। इस आदेश को सुनकर, उनके शिष्यों ने ठीक यही किया और पूरे लिकर को नष्ट कर दिया।

गोविन्द साहब पास खड़े यह सब देख रहे थे। उसने पूछा कि क्या घड़े की सारी शराब खत्म हो गई? उन्होंने आगे कहा कि इससे आपको नशा हुआ या नहीं? गुरुजी के सवाल पर शिष्यों ने जवाब दिया कि नहीं, जब शराब पेट तक नहीं पहुंची तो नशा कैसे होगा।

शिष्यों को बताते हुए, गोविंद साहब ने आगे कहा कि जिस तरह आपने शराब नहीं पी थी, उसी तरह से शराब का असर नहीं हुआ। ऐसी स्थिति में जब तक आप दिल से कोई चीज नहीं जपेंगे, कोई फायदा कैसे होगा। इसलिए जो भी काम करो, दिल से करो।