रूस की एक महिला Marina Udodskaya जिस दफ्तर की सफाई कर्मचारी थी उसे किस्मत ने ही वह का बॉस बना दिया।

रूस के चुनाव की दुनिया भर में चर्चा हो रही है। इसकी वजह एक  महिला उम्मीदवार भी है।

जिस कार्यालय में Marina Udodskaya पिछले पांच वर्षों से स्वीपर के रूप में काम कर रही थी, अब उसी कार्यालय में बॉस के रूप में काम करेगी। किसने बताया कि किस्मत कभी भी बदल सकती है। रिपोर्ट के अनुसार, यह रूस में स्थानीय चुनावों के उलटफेर के कारण संभव हुआ। 

वास्तव में, इस चुनाव में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की पार्टी के उम्मीदवार निकोलाई के खिलाफ कोई उम्मीदवार खड़ा नहीं किया गया था। इसलिए, चुनाव प्रक्रिया में पारदर्शिता दिखाने के लिए, निकोलाई ने अपने कार्यालय में काम करने वाली 35 वर्षीय मरीना को उसके खिलाफ मैदान में उतारा। 

लेकिन निकोलाई को इस बात का अंदाजा नहीं था कि जिस व्यक्ति ने चुनावों में खुद को उसके खिलाफ खड़ा किया है, वह उसे भी हरा सकता है। अब इस अनूठी जीत के साथ, मरीना 155 किलोमीटर लंबे पोवलिका जिले की जिम्मेदारी संभालेंगी और उस कार्यालय की बॉस होंगी जहां वह एक स्वीपर के रूप में काम कर रही थीं। 

आपको बता दें, मरीना ने 62 प्रतिशत वोट हासिल करके निकोलाई को हराया। दिलचस्प बात यह है कि मरीना ने कभी प्रचार भी नहीं किया। मरीना अब इस पद की जिम्मेदारी लेते हुए काम की योजना बना रही हैं। बेशक, यह चुनाव अपने आप में ऐतिहासिक था, जिसके परिणाम भी इतिहास में दर्ज किए गए थे।