बुजुर्ग लोगों का अनुभव लेकर हम अपनी बड़ी से बड़ी समस्याओं से बच सकते हैं, इसीलिए हमें समय-समय पर बड़ों से सलाह लेते रहना चाहिए।

एक युवा राजा बूढ़े लोगों को पसंद नहीं करता था, इसलिए मंत्री को राज्य के सभी बुजुर्गों को मौत की सजा देने या उन्हें अपने राज्य से निष्कासित करने का आदेश दिया।

घर के बड़ों की सलाह हमें कई तकलीफों से बाहर निकाल सकती है। समय-समय पर हमें अनुभवी लोगों से सलाह लेते रहना चाहिए। बुजुर्गों के संबंध में एक लोक कथा प्रचलित है। कहानी एक युवा राजकुमार की है। राजकुमार के माता-पिता नहीं थे। वह राजा बन गया। उसे बूढ़े लोग पसंद नहीं थे। एक दिन नए राजा ने अपने मंत्री को आदेश दिया कि राज्य के पुराने लोग बीमार रहें, काम न करें, क्योंकि इससे हमारा पैसा बर्बाद हो रहा है। इसलिए हमें उन्हें मृत्युदंड देना चाहिए या उन्हें राज्य से निष्कासित कर देना चाहिए। मंत्री ने राज्य में घोषणा की कि सभी पुराने लोग राज्य छोड़ देते हैं, जो यहां नहीं जाएंगे, उन्हें मृत्युदंड दिया जाएगा।

इस घोषणा को सुनकर सभी पुराने लोगों ने राज्य छोड़ना शुरू कर दिया। राज्य का एक लड़का बहुत गरीब था, उसके पिता बहुत बूढ़े थे। उनके पास दूसरे राज्यों में जाने के लिए पैसे नहीं थे। उसने अपने पिता को घर में छिपा दिया। उस लड़के के पिता के अलावा, राज्य के अन्य सभी बूढ़े लोग गए थे। कुछ दिनों के बाद राज्य में अकाल पड़ा। राजा समझ नहीं पा रहा था कि अब राज्य की व्यवस्था को कैसे संभाला जाए? विषयों का भोजन समाप्त हो गया, और उन दिनों भीषण गर्मी पड़ रही थी। गरीब लड़के ने अपने बूढ़े पिता से पूछा कि अकाल से कैसे निपटना है। उनके पिता ने कहा कि हिमालय राज्य से कुछ ही दूरी पर स्थित था।

गर्मी के कारण हिमालय की बर्फ पिघल जाएगी और पानी राज्य की ओर बह जाएगा। यहां पानी आने से पहले एक काम करें और राज्य के दोनों किनारों पर हल चलाएं। लड़के ने अपने साथियों को यह उपाय बताया, लेकिन किसी ने उसकी बात नहीं मानी। लड़के ने अकेले में दोनों तरफ से हल चला दिया। कुछ दिनों बाद, हिमालय की बर्फ पिघल गई और राज्य में पानी आने लगा। इसके बाद, धीरे-धीरे अनाज और रोपण दोनों पौधे बढ़े। जब राजा को इस बारे में पता चला, तो उस गरीब लड़के को दरबार में बुलाया गया। राजा ने उस लड़के से पूछा, तुम्हें ये अनाज उगाने का तरीका किसने बताया? लड़के ने कहा कि मेरे पिता ने मुझे इस उपाय के बारे में बताया था।

जब आपने बूढ़े लोगों को मारने का आदेश दिया, तो मैंने उन्हें अपने घर में छिपा दिया। यह सुनकर राजा ने उस बूढ़े को दरबार में बुलाया। बूढ़े व्यक्ति ने राजा को बताया कि महाराज अपने राज्य से खाद्यान्न अपने घर ले जाते थे और कुछ लोग दूसरे राज्यों से अनाज बेचने के लिए जाते थे, तब कुछ अनाज के दाने सड़क के दोनों ओर गिर जाते थे। जब मेरे बेटे ने सड़क के दोनों ओर हल चला दिया और हिमालय का पिघला हुआ पानी वहाँ पहुँच गया, तो वे दाने उग आए और अनाज उग आया। यह सुनकर युवा राजा को अपनी गलती का एहसास हुआ। उन्हें समझ में आया कि वृद्ध लोगों का अनुभव हमें कई समस्याओं से बचा सकता है। इसीलिए राजा ने राज्य के सभी पुराने लोगों को अपने राज्य में वापस बुला लिया।